Home Desh 55 रुपये के बदले मोदी सरकार दे रही है 3000, आप भी...

55 रुपये के बदले मोदी सरकार दे रही है 3000, आप भी उठा सकते हैं फायदा

12
0
SHARE
केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए अंतरितम बजट में लोगो क्र लिए जिन योजनाओं की घोषणाें की गई थी, उनपर अब सरकार ने काम करने सुरु कर दिया है, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का का पंजीकरण शुरू हो गया है, मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना की शर्त भी जारी कर दी है. यह योजना 15 फरवरी से शुरू चूका है, इस योजना के तहत असंगठित वर्ग के लोगो को 60 साल आयु पूरी करने के बाद 3000 रूपये प्रति महिने की पेंशन दी जाएगी, सरकार ने इसकी घोसणा 1 फरवरी को अंतरिम बजट में की थी. सरकार ने इस योजना की अधिसूचना जारी कर दी है।
योजना से जुड़ने की उम्र सीमा कामगार की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए, पहले से ही केंद्र सरकार की सहायता वाली किसी अन्य पेंशन स्कीम का सदस्य होने पर वर्कर मानधन योजना के लिए पात्र नहीं होगा।
Related image
ये लोग उठा सकते है इस योजना का लाभ
यह योजना रेहड़ी पटरी लगाने वालो रिक्सा चालक निर्माण कार्य करने वाले मजदूर कूड़ा बीनने वाले बीड़ी बनाने वाले हथकरघा कृषि कामगार मोची धोबी चमड़ा कामगार और इसी प्रकार के दुसरे कार्यो में लगे असंगठित क्षेत्र के कामगारों को कवर करेगी, असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मी की इनकम 15,000 रूपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए, पात्र व्यक्ति का शेविंग बैंक अकाउंट और आधार नबंर होना चाहिए,
Image result for हथकरघा कृषि कामगार मोची धोबी चमड़ा कामगार
योजना के साथ 18 वर्ष की आयु में जुड़ने वाले कामगार को 55 रूपये मासिक राशि जमा करनी होगी, इतनी ही राशि का योगदान केंद्र सरकार भी खाते में करेगी अधिक उम्र में योजना से जुड़ने वाले व्यक्ति का मासिक अंशदान भी बढ़ता चला जाएगा, योजना से 29 वर्ष की आयु में जुड़ने वाले कामगार को 100 रूपये मासिक अंशदान करना होगा जबकि 40 वर्ष की आयु की व्यक्ति को योजना अपनाने पर 200 प्रति माह का अंशदान करना होगा, योजना के तहत 60 वर्ष की आयु होने तक अंशदान करना होगा।  Related image
मौत होने पर क्या होगा
Image result for मौत होने
योजना में यह भी प्रावधान होगा की यदि कोई कामगार नियमित रूप से अंशदान करता रहा है, और किसी कारण से मौत हो जाती उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसकी पत्न्नी योजना को आगे बढ़ाने की पात्र होगी, वह आगे नियमित रूप से अंशदान कर सकती है, लाभार्थी की पत्न्नी अथवा पति अंशदाता की मृत्यु होने पर योजना से यदि बाहर होने चाहते है, तो वःह  तो वह किये गए कुल अंशदान पर ब्याज सहित पूरी राशि को प्राप्त कर सकता है. और योजना से बाहर हो सकते है।
Image result for 3000 रूपये प्रति महिने
विकलांग होने पर क्या होगा
Image result for विकलांग होने
योजना के लाभार्थी के स्थाई रूप से अपंग होने की स्थिति में भी उसके पति अथवा पत्न्नी योजना को आगे जारी रख सकते है, अथवा बाहर हो सकते है अधिसूचना में कहा गया है.
Image result for विकलांग होने
की पेंशन शुरू होने के बाद लाभर्थी की मृत्यु होने की स्थिति में उसकी पत्न्नी अथवा पति पेंशन की हकदार होगी और उसे पेंशन राशि का 50 प्रतिसत भुगतान किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here