Home Sport मैच ख़त्म होते ही कहाँ चला जाता है यह गुजराती CRICKETER ?...

मैच ख़त्म होते ही कहाँ चला जाता है यह गुजराती CRICKETER ? नाम और काम जान कर सलाम करेंगे आप

93
0
SHARE
गुजरात में एक तरफ वृद्धों का एक बड़ा वर्ग आधुनिक श्रवणों की कमी से जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ एक गुजराती क्रिकेटर ऐसा भी है, लगातार अपने माता पिता और परिवार की सेवा के प्रति परायण रहता है, एक के जमाने के श्रवण का नाम काम जानने के बाद आप भी उसे सलाम करेंगें क्योंकि यह गुजराती क्रिकेटर खेल के मैदान में विकेट के पीछे विकेट कीपर बन कर अपनी ही टीम के गेंदबाजों और विकेट के आगे बल्लेबाज बन कर विरोधी टीम के गेंदबाजों की गेंदों का समाना करने के साथ-साथ अपने निजी जीवन में भी एक बहुत ही मुश्किल डोर से गुजर रहा है।
Image result for पार्थिव पटेल ipl 2019
इण्डियन प्रीमियर लीग IPL के इस 12वें सीजन में कई खिलाड़ियों ने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी से लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा है, ऐसे ही खिलाड़ियों में  जो मूलतः अहमदाबाद-गुजरात के निवासी हैं, विराट कोहली की कप्तानी वाली RCB भले ही अभी तक के मैचों में में कोई खास प्रदर्शन न कर पाई हो, और उसे अब तक एक ही जीत नसीब हुई हो परन्तु इस टीम के बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज और विकेट कीपर पार्थिव पटेल इस सीजन के कुछ मैचों में अपनी टीम के लिए अकेले दम पर लड़ते आ रहे हैं, हालाँकि जीत हासिल करने में टीम के नाकाम रहने से इनका योगदान भी फीका पड़ जाता है।

Image result for रॉयल चैलेंजर बैंगलोर (RCB) टीम के विकेट कीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल भी हैं,

मैच खत्म होते ही मोबाईल देखते है, पार्थिव पटेल
हाल में पार्थिव पटेल ने उनसे मैच खत्म होने के बाद तुरंत अस्पताल जाने का कारण पूछने पर खुलासा किया की उनके पिता को ब्रेन हेमरेज हुआ है, और वह पिछले फरवरी महीने से अस्पताल में इलाज करवा रहे है, इसी बीच आईपीएल  का सीजन शुरू हो जाने से पार्थिव पटेल को अपनी टीम के साथ जुड़ना पड़ा तो अपने पिता की देखभाल कर रहे है, इसलिये वह पिता को हैदराबाद के अस्पताल ले आये, हालांकि पार्थिव की माता और पत्नी उनके पिता की अच्छे से देखभाल कर रहे है, और समय-समय पर उन्हें फोन पर जानकारी भी  ,पार्थिव पटेल भी डॉक्टर से फोन पर बात करते रहते है,
Image result for मोबाईल, पार्थिव पटेल
पार्थिव पटेल का कहना है, कि जब वह मैदान में होते हैं, तब वह सबकुछ भूलकर अपने खेल पर ध्यान देते हैं, ताकि उनके खेल पर कोई असर न पड़े, परंतु जैसे ही मैदान से बाहर आते हैं तो उनकी नजर सीधी फोन पर जाती है, और जब भी परिवार का फोन आता है, तो एक भय से दिल धड़क जाता है, कि कहीं कोई बुरी खबर तो सुनने को नहीं मिलेगी ? पार्थिव के अनुसार उनके लिये परिवार और खेल दोनों ही जीवन के महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, इसलिये वह दोनों को ही न्याय देने का प्रयास करते हैं।
Related image
उल्लेखनीय है कि पार्थिव पटेल महेन्द्रसिंह धोनी से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर चुने गये थे, परंतु धोनी के आने के बाद और उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन के चलते धोनी ने टीम में स्थाई जगह बना ली, और इसके बाद पार्थिव पटेल सहित अन्य विकेटकीपरों के लिये टीम में स्थान नहीं बना पाया।

Image result for महेंद्र सिंह धोनी से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर चुने गये थे,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here