Home Desh अभिनंदन की वापसी के लिए अमेरिका, UAE और सऊदी अरब ने कैसे...

अभिनंदन की वापसी के लिए अमेरिका, UAE और सऊदी अरब ने कैसे पाकिस्तान पर बनाया दबाव

11
0
SHARE
इमरान खान द्वारा भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान की रिहाई की घोषणा के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव कम होने के आसार हैं। माना जा रहा है. कि अंतरराष्ट्रीय दबावों की वजह से ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने शांति के लिए उठाए गए कदम के तहत गुरुवार को ऐलान किया कि पाकिस्तान भारतीय पायलट अभिनंदन को शुक्रवार को रिहा करेगा. एनडीटीवी को मिली जानकारी के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय पायलट अभिंदन की वापसी के पीछे अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और सउदी अरब का बहुत बड़ा योगदान है. इन तीन देशों के दबाव के मद्देनजर ही पाकिस्तान ने भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को दो दिन बाद ही भारत को सौंपने की घोषणा की है. हालांकि, इन प्रयासों पर भारत सरकार की ओर से अभी तक कोई औपचारिक बयान नहीं आया है।
Image result for अभिनंदन payalet
यह स्पष्ट है, की वाशिंगटन ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काम करने और पायलट की रिहाई में अहम भूमिका निभाई है। क्योकि इमरान खान की ऐलान से पहले अमेरिका राष्ट्पति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को हनोई में वर्ल्ड मीडिया से कहा कि उनके पास भारत और पाकिस्तान से बहुत अच्छी खबर है. उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा था कि हम भारत पाकिस्तान के तनाव को कम करने की कोशिशो में शामिल रहे है. और हमारे पास भारत और पाकिस्तान काफी अच्छी खबर है. और उमींद है की जल्द दोनों देशो के बीच अब तनाव खत्म होंगे, उन्होंने  कहा था की मुझे उम्मीद है.  भारत पाक की बीच अब तनाव की स्थिति समाप्त होने जा रहा है.
Image result for राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
इसके अलावा, अमेरिका की भूमिका को इस तरह से भी समझा जा सकता है कि ऐसी रिपोर्ट आई थी कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने भारतीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से गुरुवार की सुबह करीब 25 मिनट तक बातचीत की थी.
Image result for विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो
भारत -पाक मामले में एक और अहम भूमिका निभाने वाला देश था संयुक्त अरब अमीरात जो भारत का अब अहम सहयोगी बन चूका है, संयुक्त अरब अमीरात के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान  गुरुवार की साम में एक ट्यूट किया,जिसके मुताबिक उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री और पाक प्रधानमंत्री को फोन किया और हाल के घटनाक्रमों से समझदारी से निपटने के लिए संवाद और संचार को प्राथमिकता देने के महत्व पर बल दिया था।
Image result for क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान
वंही इसमें तीसरा अहम देश था सऊदी अरब ,जिसने सार्वजनिक तौर पर पुलवामा आतंकी हमले के बाद बढ़े तनाव को खत्म करने में मदद की बात की थी. सऊदी अरब के विदेश मामलों के राज्य मंत्री एडेल अल जुबीर शुक्रवार को क्राउन प्रिंस के महत्वपूर्ण संदेश के साथ इस्लामाबाद के लिए उड़ान भरेगी, संयोगवंश भारत में सऊदी के दूत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी।
Image result for एडेल अल जुबेर
अन्य देशों में ब्रिटेन फ़्रांस और रूस भी शामिल है. जिन्होंने दोनों देशों के बीच तनाव को खत्म करने की लगातार कोशिस की इतना ही नहीं इन देशों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जैश के सरगना मसूद अजहर को ब्लैकलिस्ट करने के लिए एक प्रस्ताव भी लाया।
Image result for संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद
बता दें कि भारत की ओर से बिना किसी शर्त के पायलट अभिनंदन को रिहा करने की की बात कही गई. जिसके कुछ समय बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शांति भावना के तहत भारतीय पायलट अभिनदंन की रिहाई का ऐलान किया
Image result for इमरान खान
विंग कमांडर अभिनदंन को आज पाकिस्तान वाघा बार्डर के जरिये भारत को सोपेंगा ,जिसे लेने के लिए भारत का एक पतिनिधि मंडल जाएगा हालाँकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है की पाकिस्तान अभिनंदन को अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस को सौपेगा या भारतीय अधिकारियों को
Image result for वाघा बार्डर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here